मुख्यमंत्री ने रखीं विभिन्न निर्माण कार्यों की आधारशिलाएं

मध्य प्रदेश
मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने कहा है कि बहनो का हमारे जीवन में बहुत महत्व हैं। वह न केवल हमारे समाज बल्कि हमारी आने वाली पीढ़ियों की भी रक्षक है, बल्कि आर्थिक विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। मुख्यमंत्री आज यहां आयोजित हुए रक्षाबंधन उत्सव एवं महिला सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।     मुख्यमंत्री ने इस मौके पर नयागांव में एक करोड़ 31 लाख 96 हजार की लागत से बनने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, भिण्ड में 7 करोड़ 53 लाख रूपए की लागत से बनने वाले डिवाईडर, पुलियों एवं इलेक्ट्रिक पोल, सोनमृगा नदी पर 7 करोड़ 48 लाख 87 हजार रूपए की लागत से बनने वाले आलमपुर-भगवापुरा मार्ग तथा फूप में 4 करोड़ 47 लाख 53 हजार रूपए की लागत से बनने वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की आधारशिलाऐं रखीं। इसके साथ ही उन्होंने मालनपुर में एक करोड़ 31 लाख 33 हजार रूपए की लागत से नवनिर्मित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र जनता को समर्पित किया। मुख्मयंत्री ने दोनों पैरों निःशक्त पूजा ओझा को सम्मानित किया तथा लाडली लक्ष्मी योजना के तहत बालिकाओं को एक लाख 18 हजार रूपए के प्रमाण पत्र दिए। उन्होंने राष्ट्रीय पोषण आहार के तहत आयोजित महिला बाल विकास की प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।     मुख्यमंत्री ने सम्मेलन में बड़ी संख्या में महिलाओं की उपस्थिति को रेखांकित करते हुए कहा कि आप सिर्फ अपने घरेलू कामकाज एवं व्यवसाय के बारे में ही ना सोचें, बल्कि समाज की रक्षा के बारे में भी सोचें। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार के सामने कई चुनौतियां थीं और हमने हर चुनौंती का डटकर सामना किया और उससे निपटने के प्रयास किए। हमारे सामने किसानों की कर्ज माफी एक बहुत बड़ी चुनौती थी। इसके लिए हमारी सरकार ने 37 लाख किसानों में से अब तक 19 लाख किसानों का कर्जा माफ कर दिया है और शेष किसानों के कर्ज माफी की कार्यवाही शुरू हो गई है। सरकार उनका भी कर्ज माफ करेगी।     मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि सरकार चाहती है कि कृषकों को उनकी उपज का उचित मूल्य मिले। इसके लिए हम नई कृषि नीति बनाने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज के नौजवान काम और रोजगार के अवसर चाहते हैं। यह तभी होगा जब उनके लिए रोजगारोन्मुखी नीति बने। सरकार नौजवानो के लिए ऐसी नीति अवश्य बनाऐंगी। मुख्यमंत्री ने दृढ़ स्वर में कहा कि हम मध्यप्रदेश को एक नया मध्यप्रदेश बनाने को वचनबद्ध है। मुख्यमंत्री ने भिण्ड जिले के चहुंमुखी विकास का भरोसा दिलाते हुए कहा कि विकास के मामले में मैं भिण्ड के इतिहास को बदलने का बचन देता हूँ। जनप्रतिनिधियों द्वारा भिण्ड जिले में विभिन्न निर्माण कार्यों हेतु घोषणा किए जाने के आग्रह पर मुख्यमंत्री ने भरोसा दिलाया कि भिण्ड जिले के चहुंमुखी विकास के मामले में मैं जिलावासियों को निराश नहीं होने दूंगा।     सामान्य प्रशासन, सहकारिता एवं संसदीय कार्य मंत्री डॉ गोविन्द सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री घोषणा नहीं करते, बल्कि काम कराते हैं। उन्होंने क्षेत्र में विभिन्न निर्माण कार्य कराने का मुख्यमंत्री से आग्रह किया। महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरतीदेवी ने कहा कि मुख्यमंत्री किसी कार्य को कराने की सिर्फ बात ही नहीं करते, बल्कि उस कार्य को कराते भी हैं। उन्होंने बचन पत्र में जिन बातों का उल्लेख किया था, उन पर तेजी से अमल हो रहा है। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी केन्द्रों में जरूरत की हर सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।    खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने स्मरण कराया कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने सत्ता में आते ही सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि बढ़ाकर 600 रूपए कर दी है। आगे चलकर इसको बढ़ाकर एक हजार रूपए किया जाएगा। मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत भी राशि बढाकर 51 हजार रूपए कर दी गई है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के कुशल नेतृत्व में प्रदेश तेजी से चहुंमुखी विकास की ओर दौड रहा है। पूर्व सांसद डॉ रामलखन सिंह, क्षेत्रीय विधायक श्री संजीव सिंह, विधायक श्री राजेश शुक्ला, विधायक श्री सुरेन्द्र सिंह ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। कार्यक्रम में गोहद विधायक श्री रणवीर सिंह एवं मेहगांव विधायक श्री ओपीएस भदौरिया, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री रामनारायण हिण्डोलिया, कांग्रेस जिलाध्यक्ष श्री जयश्रीराम बघेल सहित बडी संख्या में महिलाऐं, जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *