बीस हजार का इनाम हिस्ट्रीशीटर आशुतोष पर घोषित शामली से हुआ पलायन

उत्तर प्रदेश शामली

अंतर्राज्यीय बदमाश आशुतोष पर कसा शामली पुलिस का शिकंजा अपराधी पलायन को मजबूर।

हिस्ट्रीशीटर आशुतोष पांडे शामली

 

संवादाता: हरिओम द्विवेदी;- शामली कुकर्मों के लिए कुख्यात, काँधला क़स्बे के अन्तर्राज्यीय हिस्ट्रीशीटर बदमाश *आशुतोष पाण्डेय उर्फ़ अश्विनी उर्फ़ भृगुवंशी आशुतोष पाण्डेय* पर रूपया 20,000/- का ईनाम घोषित होते ही यह *बर्बर-बहुरूपिया-बदमाश कर गया है प्रदेश से पलायन; शामली पुलिस द्वारा इसके छिपने के सभी ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी बादस्तूर जारी;* ईनाम की धनराशि और भी अधिक बढ़ाए जाने पर हो रहा विचार-मंथन; घर समेत मुसलसल जरायम से हासिल की गई ज़मीन-जायदाद की मुकम्मल कुर्क़ी की भी हो रही है पुख़्ता तैयारी।

यह बात अब बवंडर की माफ़िक़ बख़ूबी बिखर चुकी है कि ऊपर बताए गए बर्बर-बहुरूपिया-बदमाश *हिस्ट्रीशीटर भृगुवंशी आशुतोष पाण्डेय* के ख़िलाफ़ विभिन्न ज़िलों व प्रदेशों में अब तक 19 जघन्य, घिनौने व संगीन मामले तमाम पुलिस थानों में दर्ज हो चुके हैं।

जगह-जगह लोगों में, महिलाओं में, पुरूषों में, बड़े-बूढ़े-बुज़ुर्गों में, गलियों में, क़स्बों में, खेतों में, बाज़ारों में इस इनामिया हिस्ट्रीशीटर बदमाश के बारे में यह चर्चा भी आम हो चुकी है कि इसके ख़िलाफ़ अब तक *गाय व गोवंश की तस्करी (3/5 A, Cow Slaughter Act), बलात्कार का प्रयास (376/511 IPC), हत्या का प्रयास (307 IPC), रंगदारी का अपराध (386 IPC), चार सौ बीसी (420 IPC) व धोखाधड़ी के अन्य तमाम मामले (467, 468, 471 IPC) तमाम पुलिस थानों में दर्ज हो चुके हैं।*

इतना ही नहीं, इस बर्बर-बहुरूपिया-बदमाश के ख़िलाफ़ *साम्प्रदायिक माहौल ख़राब करने का अपराध (153 A IPC), गुण्डा ऐक्ट (UP GOONDA ACT), गैंग्स्टर ऐक्ट (गिरोहबंद अधिनियम), आई टी ऐक्ट (IT ACT), जान-पहचान के निर्दोष लोगों को भी धोखे से अपने घर बुलाकर या उनके घर / ऑफ़िस पर जाकर उन्हें फ़र्ज़ी केस में फँसाने के संगीन व घिनौने अपराधों (420, 211, 342 IPC) समेत मारपीट (323, 324 IPC) के दर्जनों मुकद्में तमाम पुलिस थानों में दर्ज और ‘चार्जशीटेड’ हो चुके हैं।*

*यह बर्बर-बहुरूपिया-बदमाश अपने ख़िलाफ़ व अपने गंदे-गुमराह-गिरोह के अन्य बदनाम-बदमाशों के* ख़िलाफ़ सख़्त क़ानूनी कार्यवाही करने वाले ईमानदार व लोकप्रिय पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों पर अनाप-शनाप-अनर्गल आरोप लगाने का आदी बन चुका है। *377 IPC (अप्राकृतिक यौन संबंध) के फ़र्ज़ी केस लगाना, आय से अधिक संपत्ति की जाँच कराने की गीदड़-भभकी देना, कार्यालय / आवास पर आत्मदाह कर लेने की धमकी देना, मान-हानि का केस करने की धमकी देना, बड़े-बड़े नेताओं / अधिकारियों को गुलदस्ता देने व उनसे शिष्टाचार भेंट करने का माया-जाल बिछाकर बेहद चालाकी से महानुभावों के साथ फ़ोटो खिंचवाकर वायरल करना तथा भोली-भाली आम जनता के साथ छल और ठगी करना इसका पसंदीदा शग़ल व ‘फ़ुल-टाइम’ पेशा होने की बात मुखबिरों द्वारा लगातार बताई जा रही है।*

*इस बीस हज़ारी बर्बर-बहुरूपिया-बदमाश के बारे में कोई भी सूचना मिले तो निम्न मोबाइल नम्बरों पर तत्काल अवगत कराएँ। घबराएँ बिल्कुल नहीं; क्योंकि आपका नाम व आपका मोबाइल नम्बर पूरी तरह से गुप्त रखा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *