Wed. Nov 13th, 2019

जैन मंदिर में मनाया गया उत्सव

 कानपुर नगर, श्री पार्शवनाथ दिगंबर जैन मदिर, हटिया में नववर्ष महोत्सव के अंतर्गत हुए कल्याणक उत्सव में हर समय नवीनता अपनाने की सीख दी गयी। यहां आये जैन गुरू ने कहा जिसके जीवन में नवीनता होगी, वह क्रोध, अभिमान और ईशा आदि से दूर रहेगा।
       जैन गुरू डा0 पद्मराज ने कहा कि मनुष्य को हमेशा बुराईयों से दूर रहना चाहिये। कहा बार बार नया साल मनाना बिल्कुल सही है क्योंकि इसके साथ ही नवीनता आती है। उन्होने कहा नवीनता चाहने वाला व्यक्ति हमेशा धर्म के मार्ग पर चलता है, उसके जीवन में कभी कोई कठिनाई नही आ सकती। उन्होने प्रकृति से प्रेम करने की भी सीख दी तथा बोले कि जो व्यक्ति प्रकृति से प्रेम करता है वह मनाव कल्याण की राह पर चलता है। कहा जो मिल नही सकता उसे साधना द्वारा प्राप्त किया जा सकता है। हमारा तात्पर्य बोध विकसित करना है। इसलिए अपने बोध का पिरष्कार करते रहना चाहिये। इस अवसर पर अध्यक्ष दौलताम जैन, दिलीप शाह, लाधकुंवर लोढा, पूनम जैन, राजुल जैन आदि उपस्थित रहे।

3 thoughts on “जैन मंदिर में मनाया गया उत्सव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *