हरियाणा की अनामिका को मिला काजोल से पुरस्कार

सिनेमा

—अनिल बेदाग—

अदम्य जोश और जबदस्त इच्छाशक्ति। इन दो शब्दों से आज महिलाओं ने अपना लक्ष्य भेद लिया है। हरियाणा की अनामिका गौड़ ने भी मुंबई में आने पर तय कर लिया था कि उन्होंने सपनों की नगरी में अपनी ख्वाहिशों को हकीकत में बदलना है। मंजिल तय की और कदम आगे बड़ा दिए। अनामिका के लिए बड़ी उपलब्धि यही है कि उन्होंने कपिल शर्मा शो के महिला दिवस और होली स्पेशल एपिसोड में अभिनेत्री काजोल से पुरस्कार लेकर यह साबित कर दिखाया कि हरियाणा को कम न समझो। यहां की जुझारू लड़की मुंबई में भी ‘बिग ब्लास्ट’ कर सकती है। इस शो में श्रुति हासन ने भी अनामिका की खूब तारीफ की।
भिवानी से आई अनामिका की एक ख्वाहिश थी ग्लैमर की दुनिया में कुछ कर दिखाने की। चूंकि सामने बॉलीवुड था और संदीप के रूप में जीवन साथी भी ऐसा मिला, जिसने राजू हिरानी की ‘पीके’ जैसी मूवी में एक जबरदस्त कविता लिखकर खुद को साबित कर दिखाया। उनकी लिखी पंक्तियां फिल्म में अनुष्का शर्मा की पसंदीदा कविता के रूप में सामने आई। बस फिर क्या था। अनामिका ने भी अपने हमसफर की तरह काव्य क्षेत्र पर फोकस किया और निर्माता—निर्देशक राजिंदर वर्मा की ए डॉटर्स टेल ऑफ पंख, फोर्टी प्लस, रेड स्लीपर, 48 कोस, कर्मक्षेत्र आदि फिल्मों में गीत लिख डाले। आज भी बॉलीवुड में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *