यूपी और बिहार राज्यों में कहर बरपा ने को तैयार फोनी, हाई अलर्ट

अंतर्राष्ट्रीय ओडिशा
ओडिशा में चक्रवाती तूफान फोनी कुछ देरके पश्चात दस्तक.फोनी चक्रवाती तूफान का असर ओडिशा, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल के अलावा उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, झारखंड, सिक्किम, तमिलनाडु में भी पड़ने की आशंका व्यक्त की गई है।
Cyclone Fani may cause heavy rain and storm in Uttar Pradesh, Bihar, Jharkhand and Tamil Nadu

नई दिल्ली: ओडिशा में चक्रवाती तूफान फोनी दस्तक देगा. इसके लिए राज्य में पूरी चौकसी की गई है. चक्रवाती तूफान कही हद तक खतरनाक है और इस दौरान 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है. इस तूफान का असर ओडिशा, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल के अलावा उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, झारखंड, सिक्किम, तमिलनाडु और पुडुचेरी में हो सकता है. मौसम विभाग ने इसे लेकर चेतावनी जारी की है. इसमें कहा गया है कि उत्तर प्रदेश में 2 और तीन मई को तेज हवा और बारिश हो सकती है.

उत्तर प्रदेश, बिहार समेत इन राज्यों में भी होगा फोनी का असर
चक्रवाती तूफान के मद्दनेजर उत्तर प्रदेश के किसनों को सलाह दी गई है कि फसलों को नुकसान से बचाने के लिए कटी फसल, खुले में रखे अनाजों को सुरक्षित जगहों पर रखें जहां आंधी-पानी को असर न हो सकें. मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि यूपी में फोनी तूफान के दौरान 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की आंधी चल सकती है. बिहार में भी 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा के चलने का अनुमान लगाया गया है. उत्तराखंड, झारखंड, तमिलनाडु, सिक्किम और पुडुचेरी में हवा की रफ्तार यूपी, बिहार की तुलना में थोड़ी कम होगी. मौसम पुर्वानुमान में तेज हवा के साथ बारिश की भी आशंका जताई गई है.

ओडिशा में बचाव के लिए बड़ी तैयारी-
राज्य में फोनी तूफान के सबसे खतरनाक रहने की संभावना है. इसके लिए यहां तैयारी पूरी की गई है. यहां अब तक आठ लाख लोगों को खतरनाक जगहों से बाहर निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है. तटीय जिलों के निचले और चपेट में आने वाले क्षेत्रों के लोगों को 880 चक्रवात केंद्रों, स्कूल और कॉलेज की इमारतें और अन्य ठिकानों जैसे सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है. ओडिशा के कम से कम 14 जिले- पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा,बालासोर, भद्रक, गंजम, खुर्दा, जाजपुर, नयागढ़, कटक, गजपति, मयूरभंज, ढेंकानाल और क्योंझर के चक्रवात की चपेट में आने की संभावना है.

करीब 223 ट्रेनें रद्द, पर्यटकों के लिए तीन विशेष ट्रेनें लगाई गईं
रेलवे ने गुरुवार को कहा कि ‘फोनी’ के कारण बीते दो दिन में करीब 223 ट्रेनों को रद्द किया गया है जबकि प्रभावित क्षेत्रों में फंसे यात्रियों को निकालने के लिए तीन विशेष ट्रेन सेवा में लगाई गई हैं. रेलवे ने कहा कि अगर प्रस्तावित यात्रा के तीन दिन के भीतर टिकट रद्द करने के लिए पेश किया जाता है तो वह यात्रियों को रद्द ट्रेन या रूट बदलने वाली ट्रेन के लिए पूरा पैसा वापस करेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *